सुनामी का आखिर मतलब क्या है ?क्या है सुनामी फ़िज़िक्स (सुनामी का भौतिकी शाश्त्र )?

SHARE:

सुनामी का आखिर मतलब क्या है ?क्या है सुनामी फ़िज़िक्स (सुनामी का भौतिकी शाश्त्र )? सुनामी (Tsunami ):सुनामी जापानी भाषा का एक शब्द है जिसका ...

सुनामी का आखिर मतलब क्या है ?क्या है सुनामी फ़िज़िक्स (सुनामी का भौतिकी शाश्त्र )?

सुनामी (Tsunami ):सुनामी जापानी भाषा का एक शब्द है जिसका अर्थ होता है बंदरगाह -तरंग। यहां Tsu(सु )का अर्थ बंदरगाह तथा "nami"का  जापानी भाषिक - कोष में तरंग है। आमजन ने इसे ज्वारीय -धारा कहा तो विज्ञान जगत ने भूकम्पीय -समुद्री- तरंग। लेकिन यहां ज्वारीय तरंग या धारा एक भ्रान्ति पैदा करने वाला गलत नामकरण हैं Misnomer है। बेशक तटीय क्षेत्र में होने वाली नुकसानी इस बात पे निर्भर करती है कि सुनामी जब तट पर पहुंची उसके ठीक पहले ज्वारीय -लेवल क्या  रहा था  .ज्वार की मुद्रा कैसी थी ? अलबत्ता  सुनामीज़ के उद्गम का ज्वारीय -धाराओं से कोई लेना - देना नहीं है। 

ज्वारीय धाराएं तो उस भौमेतर गुरूत्वीय असंतुलन का असर या परिणाम होती हैं जो चंद्र -सूर्य-और शेष ग्रह पृथ्वी पर डालते हैं। इसी असंतुलन के कारण समुद्र में ज्वार -भाटा आता है ,जो समुद्री लहरों का उठकर तट की ओर आना और घटकर तट  से परे जाना है। इसे हम दार्शनिक अंदाज़ में कह देते हैं समुन्दर हनूमान की तरह अपना आकार कम या ज्यादा कर लेता है,सिद्धियां प्राप्त हैं समुन्दर को। 
सुनामी को सीज़्मिक सी -वैव(सागर में किसी विक्षोभ से पैदा भूकम्पीय तरंगें )  कहना भी युक्तिसंगत प्रतीत नहीं होता। सागर के तलीय क्षेत्र (Sea Floor)में आने वाले भूकम्पों के खासकर Subduction Earth Quakes अलावा सुनामी की और वजहें भी रहतीं हैं जैसे भारी भू -स्खलन  तथा ज़ोरदार उल्कापात (Meteorite Impact ).हालांकि कई माहिर इस मत से सहमत भी नहीं हैं वह केवल एक ख़ास किस्म के सागरीय भूकंप (Subduction Earth Quake )को ही सुनामी की वजह बतलाते हैं। 

देखें :http://www.ldeo.columbia.edu/~djs/aleut/info_for_public.html

कृपया ये सेतु (लिंक )भी देखें :
https://earthweb.ess.washington.edu/tsunami/general/physics/earthquake.html

अब सवाल ये पैदा होता है ये ख़ास किस्म के कुछेक भूकंप  सुनामी कैसे पैदा  कर देते  हैं  ?
सुनामी तब पैदा होतीं हैं जब आकस्मिक तौर पर ,अप्रत्याशित रूप से समुद्र तल (समुन्दर का फर्श या Sea Floor )विकृत हो जाये ,फलस्वरूप परिव्याप्त समूची जलराशि ऊर्धवाधर दिशा  में विस्थापित होकर ऊपर नीचे लहराने लगे ,आसिलेट  करने लगे  ये ओवरराइडिंग जलराशि। जब भी ऐसा होता है जल के अणु तो अपने ही स्थान पर रहते हुए ऊर्ध्वाधर दिशा में कम्पन करने लगते हैं जलराशि में पैदा विक्षोभ तरंग इस के लंबवत  आगे बढ़ जाती है चुपके चुपके।

भूविज्ञान में पृथ्वी की संरचना से सम्बंधित भू -कम्पों को टेक्टॉनिक अर्थक्वेक्स (Tectonic Earthquakes)कहा जाता है। भूसतह बनाने वाली चट्टान की बड़ी परतों में जब भी हलचल पैदा होती है पृथ्वी डोलने लगती है ज़लजला (हिज़ाब या भूकंप )महसूस होता है। इन भूकम्पों का संबंध भू -पर्पटी में पैदा स्ट्रेन (विकृति ,डिफ़ॉर्मेशन )से रहता है। प्लेट टेक्टानिक्स सिद्धांत के अनुसार सात बड़ी चट्टानी प्लेटें हैं जो अपनी पीठ पे एक -एक महाद्वीप लिए सरक  रही हैं ,इनका परस्पर संघर्षण ही ,खिसकाव -टकराव परस्पर परिव्याप्ति ही भूकंप की वजह बनता है।

जब ये भूकंप समुंदरों के नीचे पैदा होते हैं ,तब विक्षोभ ग्रस्त उस इलाके की समस्त जल -राशि अपनी साम्यावस्था (मीन पोज़िशन )से विस्थापित हो जाती  है। यही विस्थापन ,तरंगें पैदा करता है क्योंकि विस्थापित जल राशि अपनी साम्यावस्था मीन पोज़िशन में वापस आना चाहती है। विक्षोभ से यही जल राशि ऊर्ध्वाधर दिशा में उठ गई थी ,गुरुत्व इसे वापस नीचे की ओर खींचता है,अब ये मीन पोज़िशन को पार  कर नीचे की ओर ऊर्ध्वाधर दिशा में चली आती है फलत: एक विक्षोभ आगे बढ़ जाता है , इसी का नतीजा होती हैं सुनामी या बंदरगाह -तरंग।

पृथ्वी की पर्पटी (Earth Crust )का बड़े पैमाने पर ऊर्ध्वाधर दिशा में इन चट्टानी प्लेटों के सिरों पर आंदोलन पैदा हो  सकता है, वहां जहां ऐसी दो चट्टानी प्लेटों की सीमा होती है ,बाउंड्रीज़ होतीं हैं।इस आंदोलन की वजह इसी चौहद्दी पर  प्लेटों का खिसकाव बनता है। जब एक प्लेट दूसरी को ठेल उस के ऊपर खिसक आती है परिव्याप्त होने लगती है ओवरराइड करने लगती है दूसरी पर अपनी सीमा का अतिक्रमण करके।
इन सीमान्त क्षेत्रों में भूपर्पटी का बड़ा आंदोलन ,मूवमेंट ऊर्ध्वाधर दिशा में हो सकता है। इन्ही क्षेत्रों को भू -विज्ञान में फाल्ट्स (Faults )कहा जाता है।

प्रशांत महासागर के मार्जिन्स (हाशिये )के गिर्द अपेक्षाकृत ज्यादा घनत्व वाली सागरीय प्लेटें ,महाद्वीपीय प्लेटो(Continental Plates ) के नीचे खिसकतीं हैं। इस खिसकाव या प्रक्रिया को ही सब्डक्शन (Subduction )कहा जाता है। इस प्रकार पैदा भूकंप ही सब्डक्शन अर्थ क्वेक्स कहे गये  हैं। संक्षेप में पुन :बतलादें ,ऐसे भूकंप ही सुनामी पैदा करने में कामयाब होते हैं।

"when large areas of the sea floor elevate or subside , a tsunami can be created ."

सागर के फर्श का एक बड़ा क्षेत्र जब ऊपर उठता है या फिर नीचे की ओर ऊर्ध्व दिशा में ही  धंसता है,तब पैदा होती है सुनामी या बंदरगाह -तरंगें  जो तटों ,तट -रेखाओं (Coastal Lines )तक पहुँचने पर बेहद का विध्वंश करतीं हैं। तबाही मचा देती है सब कुछ तहस नहस करके रख देतीं हैं। देखे दिया नीचे दिया गया सेतु।

How do earthquakes generate tsunamis?


Tsunamis can be generated when the sea floor abruptly deforms and vertically displaces the overlying water. Tectonic earthquakes are a particular kind of earthquake that are associated with the earth's crustal deformation; when these earthquakes occur beneath the sea, the water above the deformed area is displaced from its equilibrium position. Waves are formed as the displaced water mass, which acts under the influence of gravity, attempts to regain its equilibrium. When large areas of the sea floor elevate or subside, a tsunami can be created.
Large vertical movements of the earth's crust can occur at plate boundaries. Plates interact along these boundaries called faults. Around the margins of the Pacific Ocean, for example, denser oceanic plates slip under continental plates in a process known as subduction. Subduction earthquakes are particularly effective in generating tsunamis.
This simulation (2 MB) of the 1993 Hokkaido earthquake-generated tsunami, developed by Takeyuki Takahashi of the Disaster Control Research Center, Tohoku University, Japan, shows the initial water-surface profile over the source area and the subsequent wave propagation away from the source. Areas in blue represent a water surface that is lower than the mean water level, while areas in red represent an elevated water surface. The initial water-surface profile, as shown in this image, reflects a large, long uplifted area of the sea floor lying to the west (left) of Okushiri Island, with a much smaller subsided area immediately adjacent to the southwest corner of Okushiri.

Help Table of Contents Physics of Tsunamis
Pl read this also :https://earthweb.ess.washington.edu/tsunami/general/physics/transform.html
क्यों शक्ल और स्वभाव दोनों बदमिजाज़ हो जाते हैं ,क्यों बदल जाता है सुनामी का आवेग तट पर पहुंचते -पहुँचते ?जबकि गहरे पानी यह शांतभाव द्रुत गति बनाये चल रही थी। 
दरसल गहरे पानी पैठी सुनामीट्रंफ  तेज़ चलती है अंदर -अंदर ,इस समय इसकी  ऊंचाई या क्रेस्ट कम रहती है जितना गहरा पानी उतनी ही कम ऊंचाई की क्रेस्ट बनती है।इसीलिए इसके द्रुत गति आगे बढ़ते जाने की किसी को भनक नहीं रहती ,न किसी को कोई नुकसानी उठानी पड़ती है , विलोम रिश्ता रहता है दोनों का ,तू (गहराई )ज्यादा तो मैं (ऊंचाई ) कम ,तू (गहराई )कम तो मैं (ऊंचाई )ज्यादा वाला  यानी विलोमानुपाती (Inversely proportional )संबंध बना रहता है परस्पर सुनामी की ऊंचाई और चाल में। 

Depth of a Tsunami is Inversely proportional to its height (or Crest ).A crest and a trough taken together  is called a wave .

इस तटोन्मुख (तट की ओर सफर के दौरान )यात्रा के दौरान सुनामी में निहित कुल ऊर्जा -प्रवाह ,एनर्जी फ्लक्स (Energy Flux)अ-परिवर्तनीय  इसी वजह से नियत बनी रहती है। क्योंकि यह ऊर्जा -बहाव (एनर्जी फ्लक्स )सुनामी तरंग की चाल और क्रेस्ट दोनों के गुड़नफल पर निर्भर करती है। दोनों का गुणनफल(dxh,product ) नियत या कॉन्स्टेंट बना रहता है इस सफर में इसी विलोमानुपात संबंध के चलते । 
dxh =constant ,रहता है 

यहां d=सुनामी की गहराई ,

      h=सुनामी की ऊंचाई या क्रेस्ट है। 
अब आप अंदाज़ा लगा सकते है गहरे समुन्दर से निकल  उथले तटीय इलाके तक आते -आते ये तरंगें कितनी उत्ताल विशाल ऊंचा भाल(Crest ) लिए गर्वोक्त विनाशी -मुद्रा लिए  आती होंगी ,आहिस्ता से चुपके चुपके और तबाही मचाके रख देती होंगी किसी मानव बम की तरह .कोई मौक़ा नहीं किसी को सँभालने का ।इसीलिए सुनामी की भनक पड़ते ही होशयार नाविक गहरे समुन्दर की और दौड़ जाते हैं तट पर मरने के लिए नहीं दौड़ते हैं।   
क्योंकि तट पर आते -आते सुनामी की वेवलेंग्थ (एक क्रेस्ट से दूसरी  क्रेस्ट की दूरी )और गहराई का अनुपात घटके बहुत ही कमतर रह जाता है। ऊंचाई बेहद की और गहराई ना -मालूम सी  उथली -उथली। लेकिन फ्लक्स यानी निसृत ऊर्जा वही बनी रहती है। 

माहिरों के अनुसार ,सुनामी की चाल (speed ,v )और गहराई (depth ,d )का रिश्ता इस सफर के दरमियान कुछ यूं बना रहता है :

v=square root of acceleration of gravity 'g'and d the water depth or depth of tsunami ,


यहां g =9.8 meter per second square ,गुरुत्वीय त्वरण का मान है। 
       d =सुनामी की गहराई है जो तट तक आते -आते लगातार कम से कमतर होती गई है।

इसीलिए सुनामी को उथले पानी की उत्ताल -तरंग भी कह दिया जाता है.

प्रशांत महासागरीय क्षेत्र में पानी की गहराई औसतन चार-हज़ार मीटर या चार किलोमीटर रहती है। सुनामी की चाल २०० मीटर प्रति सेकिंड यानी सात सौ किलोमीटर प्रति घंटा रहती है इतनी गहराई पर। 

जिस दर से यह सुनामी तरंग अपनी ऊर्जा का ह्रास करती है वह इसकी ऊंचाई या वेवलेंग्थ के साथ विलोम अनुपात बनाये रहती है इसीलिए सुनामी भीतर -भीतर घात   लगाए तेज़रफ़्तार दूर तटों तक पहुँचने से पहले महा -सागरों के पार चली जाती है ना -मालूम सी  ऊर्जा खोये -खपाये। 

For the same reasons tsunamis travel with great speeds trans -oceanic distances with little or no energy loss which they release at the coastal lines and do the damages as they do .  




What happens to a tsunami as it approaches land?


As a tsunami leaves the deep water of the open ocean and travels into the shallower water near the coast, it transforms. If you read the "How do tsunamis differ from other water waves?" section, you discovered that a tsunami travels at a speed that is related to the water depth - hence, as the water depth decreases, the tsunami slows. The tsunami's energy flux, which is dependent on both its wave speed and wave height, remains nearly constant. Consequently, as the tsunami's speed diminishes as it travels into shallower water, its height grows. Because of this shoaling effect, a tsunami, imperceptible at sea, may grow to be several meters or more in height near the coast. When it finally reaches the coast, a tsunami may appear as a rapidly rising or falling tide, a series of breaking waves, or even a bore.


Help Table of Contents Physics of Tsunamis

How do tsunamis differ from other water waves?


Tsunamis are unlike wind-generated waves, which many of us may have observed on a local lake or at a coastal beach, in that they are characterized as shallow-water waves, with long periods and wave lengths. The wind-generated swell one sees at a California beach, for example, spawned by a storm out in the Pacific and rhythmically rolling in, one wave after another, might have a period of about 10 seconds and a wave length of 150 m. A tsunami, on the other hand, can have a wavelength in excess of 100 km and period on the order of one hour.As a result of their long wave lengths, tsunamis behave as shallow-water waves. A wave becomes a shallow-water wave when the ratio between the water depth and its wave length gets very small. Shallow-water waves move at a speed that is equal to the square root of the product of the acceleration of gravity (9.8 m/s/s) and the water depth - let's see what this implies: In the Pacific Ocean, where the typical water depth is about 4000 m, a tsunami travels at about 200 m/s, or over 700 km/hr. Because the rate at which a wave loses its energy is inversely related to its wave length, tsunamis not only propagate at high speeds, they can also travel great, transoceanic distances with limited energy losses.

This animation (2.3 MB), produced by Professor Nobuo Shuto of the Disaster Control Research Center, Tohoku University, Japan, shows the propagation of the earthquake-generated 1960 Chilean tsunami across the Pacific. Note the vastness of the area across which the tsunami travels - Japan, which is over 17,000 km away from the tsunami's source off the coast of Chile, lost 200 lives to this tsunami. Also note how the wave crests bend as the tsunami travels - this is called refraction. Wave refraction is caused by segments of the wave moving at different speeds as the water depth along the crest varies. Please note that the vertical scale has been exagaerated in this animation - tsunamis are only about a meter high at the most in the open ocean. (The QuickTime movie presented here was digitized from a video tape produced from the original computer-generated animation.)   

COMMENTS

Name

- दर्शन लाल बावेजा,1,- बी एस पाबला,1,-Dr. Prashant Arya,2,-अंकित,4,-अंकुर गुप्ता,7,-अभिषेक ओझा,2,-अल्पना वर्मा,22,-आशीष श्रीवास्‍तव,2,-इन्द्रनील भट्टाचार्जी,3,-काव्या शुक्ला,2,-जाकिर अली ‘रजनीश’,56,-जी.के. अवधिया,6,-जीशान हैदर जैदी,45,-डा प्रवीण चोपड़ा,4,-डा0 अरविंद मिश्र,27,-डा0 श्‍याम गुप्‍ता,5,-डॉ. गुरू दयाल प्रदीप,8,-डॉ0 दिनेश मिश्र,5,-दर्शन बवेजा,1,-दर्शन लाल बवेजा,7,-दर्शन लाल बावेजा,2,-दिनेशराय द्विवेदी,1,-पवन मिश्रा,1,-पूनम मिश्रा,7,-बालसुब्रमण्यम,2,-योगेन्द्र पाल,6,-योगेश,1,-रंजना [रंजू भाटिया],22,-रेखा श्रीवास्‍तव,1,-लवली कुमारी,3,-विनय प्रजापति,2,-वीरेंद्र शर्मा(वीरुभाई),81,-शिरीष खरे,2,-शैलेश भारतवासी,1,-संदीप,2,-सलीम ख़ान,13,-हिमांशु पाण्डेय,3,.संस्‍था के उद्देश्‍य,1,।NASA,1,(गंगा दशहरा),1,100 billion planets,1,2011 एम डी,1,22 जुलाई,1,22/7,1,3/14,1,3D FANTASY GAME SPARX,1,3D News Paper,2,5 जून,1,Acid rain,1,Adhik maas,1,Adolescent,1,Aids Bumb,1,aids killing cream,1,Albert von Szent-Györgyi de Nagyrápolt,1,Alfred Nobel,1,aliens,1,All india raduio,1,altruism,1,AM,18,Aml Versha,1,andhvishwas,5,animal behaviour,1,animals,1,Antarctic Bottom Water,1,Antarctica,9,anti aids cream,1,Antibiotic resistance,1,arunachal pradesh,1,astrological challenge,1,astrology,1,Astrology and Blind Faith,1,astrology and science,1,astrology challenge,1,astronomy,4,Aubrey Holes,1,Award,4,AWI,1,Ayush Kumar Mittal,2,bad effects of mobile,1,beat Cancer,1,Beauty in Mathematics,1,Benefit of Mother Milk,1,benifit of yoga,1,Bhaddari,1,Bhoot Pret,3,big bang theory,1,Binge Drinking,1,Bio Cremation,1,bionic eye Veerubhai,1,Blind Faith,4,Blind Faith and Learned person,1,bloggers achievements,1,Blood donation,1,bloom box energy generator,1,Bobs Award,1,Breath of mud,1,briny water,1,Bullock Power,1,Business Continuity,1,C Programming Language,1,calendar,1,Camel reproduction centre,1,Carbon Sink,1,Cause of Acne,1,Change Lifestyle,1,childhood and TV,1,chromosome,1,Cognitive Scinece,1,comets,1,Computer,2,Contraception,1,darshan baweja,1,Deep Ocean Currents,1,Depression Treatment,1,desert process,1,Dineshrai Dwivedi,1,DISQUS,1,DNA,3,DNA Fingerprinting,1,Dr Shivedra Shukla,1,Dr. Abdul Kalam,1,Dr. K. N. Pandey,1,Dr. shyam gupta,1,Dr.G.D.Pradeep,9,Drug resistance,1,earth,28,Earthquake,5,Einstein,1,energy,1,Equinox,1,eve donation,1,Experiments,1,Facebook Causes Eating Disorders,1,faith healing and science,1,fastest computer,1,fibonacci,1,Film colourization Technique,1,Food Poisoning,1,formers societe,1,gauraiya,1,Genetics Laboratory,1,Ghagh,1,gigsflops,1,God And Science,1,golden number,2,golden ratio,2,guest article,9,guinea pig,1,Have eggs to stay alert at work,1,Health,73,Health and Food,14,Health and Fruits,1,Heart Attack,1,Heel Stone,1,Hindi Children's Science Fiction,1,HIV Aids,1,Human Induced Seismicity,1,Hydrogen Power,1,hyzine,1,hyzinomania,1,identification technology,2,IIT,2,Illusion,2,immortality,2,indian astronomy,1,influenza A (H1N1) virus,1,Innovative Physics,1,ins arihant,1,Instant Hip Hain Relief,1,International Conference,1,International Year of Biodiversity,1,invention,5,inventions,30,ISC,2,Izhar Asar,1,Jafar Al Sadiq,1,Jansatta,1,japan tsunami nature culture,1,Kshaya maas,1,Laboratory,1,Ladies Health,5,Lauh Stambh,1,leap year,1,Lejend Films,1,linux,1,Man vs.Machine,1,Manish Mohan Gore,1,Manjeet Singh Boparai,1,MARS CLIMATE,1,Mary Query,2,math,1,Medical Science,2,Memory,1,Metallurgy,1,Meteor and Meteorite,1,Microbe Power,1,Miracle,1,Misconduct,3,Mission Stardust-NExT,1,MK,76,Molecular Biology,2,Motive of Science Bloggers Association,1,Mystery,1,Nature,1,Nature experts Animal and Birds,1,Negative Effects of Night Shift,1,Neuroscience Research,1,new technology,1,NKG,4,open source software,1,Osmosis,1,Otizm,1,Pahli Barsat,1,pain killer and pain,1,para manovigyan,1,PCST 2010,5,pencil,1,Physics for Entertainment,1,Pill,1,PK,2,Plagiarism,5,Prey(Novel) by Michael Crichton,1,Pshychology,1,psychological therapy in vedic literature,1,Puberty,1,Rainbow,1,reason of brininess,1,Refinement,1,Research,4,Robotics,1,Safe Blogging,1,Science Bloggers Association as a NGO,2,science communication through blog writing,4,Science Fiction,16,Science Fiction Writing in Regional Languages,1,Science Joks,1,Science Journalism and Ethics,3,Science News,3,science of laughter,1,science project,1,Science Reporter,1,Science Theories,9,scientific inventions,2,Scientist,47,scientists,1,Search Engine Volunia,1,Secret of invisibility,1,Sex Ratio,1,Shinya Yamanaka,1,SI,1,siddhi,1,Solar Energy,1,space tourism,1,space travel,1,Spirituality,1,Stem Cell,1,Stephen Hawking,1,stonehenge mystery,1,Summer Solstice,1,Sunspots and climate,1,SuperConductivity,1,survival of fittest,1,sweet 31,1,Swine flue,1,taantra siddhee,1,tally presence system,1,Tantra-mantra,1,technical,1,technology,19,telomerase,1,Theory of organic evolution,1,Therapy in Rig veda,1,tokamak,1,Top 10 Blogger,1,Transit of Venus,1,TSALIIM Vigyan Gaurav Samman,1,tsunami warning,1,Tuberculosis Bacillus,1,tyndall effect,1,universe,14,Urdu Science Fiction Writer,1,vedic literature,1,VIDEO BOOK,1,Vigyan Pragati,1,Vigyan Prasar,1,Vision,1,Vividh Bharti,1,water,1,Web Technology,1,Wild life,3,Women Empowerment,1,Workshop,5,World Health Day,1,World no tobacco day,1,world trade center,1,Wormhole concept,1,Ya Perelman,1,yogendra,2,π,1,अंक,1,अंक गणित,1,अंतरिक्ष,1,अंतरिक्ष में सैर सपाटा,1,अंतरिक्ष यात्रा,1,अंतर्राष्ट्रीय सम्मलेन,1,अतिचालकता,1,अतीन्द्रिय दृष्टि,1,अतीन्द्रिय बोध,1,अथर्ववेद,1,अंध-विश्वास,2,अंधविश्‍वास,1,अंधविश्वास को चुनौती,3,अधिक मास,1,अध्यात्म,1,अनंत,1,अनसुलझे रहस्य,1,अन्तरिक्ष पर्यटन,3,अन्धविश्वास,3,अन्धविश्वास के खिलाफ,1,अभिषेक,8,अभिषेक मिश्र,4,अमरता,1,अम्ल वर्षा,1,अयुमु,1,अरुणाचल प्रदेश,1,अर्थ एक्सपेरीमेंट,3,अर्शिया अली,1,अलीगढ़ मुस्लिम युनिवर्सिटी,1,अलौकिक संगीत,1,अवसाद मुक्ति,1,अस्थि विज्ञान,1,आई आई टी,1,आई साईबोर्ग,1,आईएनएस अरिहंत,1,आकाश,1,आकाशगंगा,2,आटिज्‍म,1,आध्यात्म,1,आनंद कुमार,1,आनुवांशिक वाहक,1,आयुष मित्तल,1,आर्कियोलॉजी,1,आलम आरा,1,आविष्कार,1,आविष्कार प्रौद्योगिकी मोबाईल,1,इंटरनेट का सफर,1,इंडिव्हिजुअल व्हेलॉसिटी,1,इनविजिबल मैन,1,इन्जाज़-ऊंट प्रतिकृति,1,इन्द्रधनुष,1,इन्द्रनील भट्टाचार्जी,1,इन्द्रनील भट्टाचार्य,1,इशारों की भाषा,1,ईश्वर और विज्ञान,1,उजाला मासिक,1,उन्माद,1,उन्‍मुक्‍त,1,उप‍लब्धि,3,उबुन्टू,1,उल्‍कापात,1,उल्‍कापिंड,1,ऋग्वेद,1,एड्स जांच दिवस,1,एड्सरोधी क्रीम,1,एनिमल वेलफेयर बोर्ड ऑफ इंडिया,1,एल्कोहल,1,एल्फ्रेड नोबल,1,औरतों में दिल की बीमारी का खतरा,1,कदाचार,1,कपडे,1,कम्‍प्‍यूटर एवं तकनीक,4,कम्प्यूटर विज्ञान,1,करेंट साइंस,1,कर्मवाद,1,किसानों की आत्महत्याएँ,1,कीमती समय,1,कृत्रिम जीवन,1,कृत्रिम रक्‍त,1,कृषि अवशेष,1,केविन वार्विक्क,1,कैसे मजबूत बनाएं हड्डियां,1,क्रायोनिक्स,1,क्रैग वेंटर,1,क्षय मास,1,क्षेत्रीय भाषाओं में विज्ञान कथा लेखन,2,खगोल,1,खगोल विज्ञान,2,खगोल विज्ञान.,1,खगोल वेधशाला,1,खतरनाक व्‍यवहार,1,खाद्य विषाक्‍तता,1,खारा जल,1,खूबसूरत आँखें,1,गणित,3,गति,1,गर्भकाल,1,गर्भस्‍थ शिशु का पोषण,1,गर्मी से बचने के तरीके,1,गुणसूत्र,1,गेलिलियो,1,गोल्डेन नंबर,2,गौरैया,1,ग्रह,1,ग्रीष्मकालीन अयनांत,1,ग्रुप व्हेलॉसिटी,1,ग्रेफ़ाइट,1,ग्लोबल वार्मिंग,2,घाघ-भड्डरी,1,चंद्रग्रहण,1,चमत्कार,1,चमत्कारिक पत्थर,1,चरघातांकी संख्याएं,1,चार्ल्‍स डार्विन,1,चिकत्सा विज्ञान,1,चैटिंग,1,छरहरी काया,1,छुद्रग्रह,1,जल ही जीवन है,1,जान जेम्स आडूबान,1,जानवरों की अभिव्यक्ति,1,जीवन और जंग,1,जीवन की उत्‍पत्ति,1,जैव विविधता वर्ष,1,जैव शवदाह,1,ज्योतिष,1,ज्योतिष और अंधविश्वास,2,झारखण्‍ड,1,टिंडल प्रभाव,1,टीलोमियर,1,टीवी और स्‍वास्‍थ्‍य,1,टीवी के दुष्‍प्रभाव,1,टेक्‍नालॉजी,1,टॉप 10 ब्लॉगर,1,डा0 अब्राहम टी कोवूर,1,डा0 ए0 पी0 जे0 अब्दुल कलाम,1,डाइनामाइट,1,डाटा सेंटर,1,डिस्कस,1,डी•एन•ए• की खोज,3,डीप किसिंग,1,डॉ मनोज पटैरिया,1,डॉ. के.एन. पांडेय,1,डॉ० मिश्र,1,ड्रग एडिक्‍ट,1,ड्रग्स,1,ड्रग्‍स की लत,1,तम्बाकू,1,तम्‍बाकू के दुष्‍प्रभाव,1,तम्बाकू निषेध,1,तर्कशास्त्र,1,ताँत्रिक क्रियाएँ,1,थर्मोइलेक्ट्रिक जेनरेटर,1,थ्री ईडियट्स के फार्मूले,1,दर्दनाशी,1,दर्शन,1,दर्शन लाल बवेजा,3,दिल की बीमारी,1,दिव्‍य शक्ति,1,दुरबीन,1,दूरानुभूति,1,दोहरे मानदण्ड,1,धरोहर,1,धर्म,2,धातु विज्ञान,1,धार्मिक पाखण्ड,1,धुम्रपान और याद्दाश्‍त,1,धुम्रपान के दुष्‍प्रभाव,1,धूल-मिट्टी,1,नई खोजें,1,नन्हे आविष्कार,1,नमक,1,नवाचारी भौतिकी,1,नशीली दवाएं,1,नाइट शिफ्ट के दुष्‍प्रभाव,1,नारायणमूर्ति,1,नारी-मुक्ति,1,नींद और बीमारियां,1,नींद न आने के कारण,1,नेत्रदान और ब्लॉगर्स,1,नेत्रदान का महत्‍व,1,नेत्रदान कैसे करें?,1,नैनो टेक्नालॉजी,1,नॉटिलस,1,नोबल पुरस्कार,1,नोबेल पुरस्कार,2,न्‍यूटन,1,परमाणु पनडुब्‍बी,1,परासरण विधि,1,पर्यावरण और हम,1,पर्यावरण चेतना,2,पशु पक्षी व्यवहार,1,पहली बारिश,1,पाई दिवस,1,पुच्‍छल तारा,1,पुरुष -स्त्री लिंग अनुपात,1,पूर्ण अँधियारा चंद्रग्रहण,1,पृथ्वी की परिधि,3,पृथ्‍वेतर जीवन,1,पेट्रोल चोरी,1,पेंसिल,1,पैडल वाली पनडुब्बी,1,पैराशूट,1,पॉवर कट से राहत,1,पौरूष शक्ति,1,प्रकाश,2,प्रज्ञाएँ,1,प्रतिपदार्थ,1,प्रतिरक्षा,1,प्रदूषण,1,प्रदूषण और आम आदमी,1,प्ररेणा प्रसंग,1,प्रलय,2,प्रलय का दावा बेटुल्गुयेज,1,प्रसव पीड़ा,1,प्रेम में ।धोखा,1,प्रोटीन माया,1,प्लास्टिक कचरा,1,फाई दिवस,1,फिबोनाकी श्रेणी,1,फिबोनाची,1,फेसबुक,1,फ्रीवेयर,1,फ्रेंकेंस्टाइन,1,फ्रेंच किसिंग,1,बनारस,1,बायो-क्रेमेशन,1,बायोमैट्रिक पहचान तकनीकियाँ,2,बाल विज्ञान कथा,1,बालसुब्रमण्यम,6,बिग-बेंग सिद्धांत,1,बिजली,1,बिजली उत्‍पादन,1,बिजली कैसे बनती है?,1,बिजलीघर,1,बिली का विकल्‍प,1,बी0एम0डब्ल्यू0,1,बीरबल साहनी,1,बुलेटप्रूफ,1,बैल चालित पम्प,1,ब्रह्मण्‍ड,1,ब्रह्मा,1,ब्रह्माण्‍ड,1,ब्रह्माण्‍ड के रहस्‍य,1,ब्रह्मान्ड,1,ब्रेन म्‍यूजिक,1,ब्लॉग लेखन,1,ब्लॉग लेखन के द्वारा विज्ञान संचार,2,ब्लॉगिंग का महत्व,1,भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद,1,भारतीय विज्ञान कथा लेखक समिति,1,भारतीय वैज्ञानिक,2,भारतीय शोध,1,भूकंप के झटके,1,भूकम्‍प,1,भूगर्भिक हलचलें,1,मंगल,1,मधुमेह और खानपान,1,मनजीत सिंह बोपाराय,1,मनीष मोहन गोरे,1,मनीष वैद्य,1,मनु स्मृति,1,मनोरंजक गणित,1,महिला दिवस,1,माचू-पिचू,1,मानव शरीर,1,माया,1,मारिजुआना,1,मासिक धर्म,1,मिल्‍की वे,1,मिशन स्टारडस्ट-नेक्स,1,मीठी गपशप,1,मीमांसा,1,मुख कैंसर,1,मृत सागर,1,मेघ राज मित्र,1,मेडिकल रिसर्च,1,मेरी शैली,1,मैथेमेटिक्स ओलम्पियाड,1,मैरी क्‍यूरी,2,मैरीन इनोवेटिव टेक्नोलॉजीज लि,1,मोटापा,1,मोबाईल के नुकसान,1,मौसम,1,यजुर्वेद,1,युवा अनुसंधानकर्ता पुरष्कार,1,यूरी गागरिन,1,योगेन्द्र पाल,1,योगेश,1,योगेश रे,1,रक्षा उपकरण,1,राईबोसोम,1,रूप गठन,1,रेडियो टोमोग्राफिक इमेजिंग,1,रैबीज,1,रोचक रोमांचक अंटार्कटिका,4,रोबोटिक्स,1,लखनऊ,1,लादेन,1,लालन-पालन,1,लिनक्स,1,लिपरेशी,1,लीप इयर,1,लेड,1,लॉ ऑफ ग्रेविटी,1,लोक विज्ञान,1,लौह स्तम्भ,1,वजन घटाने का आसान तरीका,1,वाई गुणसूत्र,1,वायु प्रदुषण,1,वाशो,1,विज्ञान,1,विज्ञान कथा,3,विज्ञान कथा सम्मेलन,1,विज्ञान के खेल,2,विज्ञान चुटकले,1,विज्ञान तथा प्रौद्यौगिकी,1,विज्ञान प्रगति,1,विज्ञान ब्लॉग,1,विज्ञापन,1,विटामिनों के वहम,1,विद्युत,1,विवेकानंद,1,विवेचना-व्याख्या,1,विश्व नि-तम्बाकू दिवस,1,विश्व पर्यावरण दिवस,1,विश्व भूगर्भ जल दिवस,1,विष्णु,1,वीडियो,1,वीडियो बुक,1,वैज्ञानिक दृष्टिकोण,1,वैद्य अश्विनी कुमार,1,वोस्तोक,1,व्‍यायाम के लाभ,1,व्हेलॉसिटी,1,शिव,1,शुक्र पारगमन,1,शुगर के दुष्‍प्रभाव,1,शून्य,1,शोध परिणाम,1,शोधन,1,श्रृष्टि का अंत,1,सं. राष्ट्रसंघ,1,सकारात्‍मक सोच का जादू,1,संक्रमण,1,संख्या,1,संजय ग्रोवर,1,संज्ञात्मक पक्षी विज्ञान,1,सटीक व्‍यायाम,1,संत बलबीर सिंह सीचेवाल,1,सत्यजित रे,1,समय की बरबादी को रोचकने के उपाय,1,समाज और हम,1,समुद्र,1,संयोग,1,सर चन्द्रशेखर वेंकट रमन राष्ट्रीय विज्ञान दिवस,1,सर्प संसार,1,साइकोलोजिस्ट,1,साइनस उपचार,1,साइंस ब्लागर्स मीट,1,साइंस ब्लागर्स मीट.,2,साइंस ब्लॉग कार्यशाला,2,साइंस ब्लॉगर्स असोसिएशन अवार्ड,1,साइंस ब्लॉगर्स असोसिएशन रजिस्ट्रेशन,1,साइंस ब्लॉगर्स ऑफ दि ईयर अवार्ड,1,साइंस ब्लोगिंग,1,साईकिल,1,सामवेद,1,सामाजिक अभिशाप,1,सामाजिक चेतना,1,साहित्यिक चोरी,2,सिगरेट छोड़ें,1,सी. एस. आई. आर.,1,सी.वी.रमण विज्ञान क्लब,1,सीजेरियन ऑपरेशन,1,सुपर अर्थ,1,सुपर कम्प्यूटर,1,सुरक्षित ब्लॉगिंग,1,सूर्यग्रहण,2,सृष्टि व जीवन,3,सेक्स रेशियो,1,सेहत की देखभाल,1,सोशल नेटवर्किंग,1,स्टीफेन हाकिंग,1,स्पेन,1,स्मृति,1,स्वर्ण अनुपात,1,स्वाईन-फ्लू,1,स्वास्थ्य,2,स्‍वास्‍थ्‍य और खानपान,1,स्वास्थ्य चेतना,3,हमारे वैज्ञानिक,4,हरित क्रांति,1,हंसी के फायदे,1,हाथरस कार्यशाला,1,हिंद महासागर,1,हृदय रोग,1,होलिका दहन,1,ह्यूमन रोबोट,1,
ltr
item
Science Bloggers' Association of India: सुनामी का आखिर मतलब क्या है ?क्या है सुनामी फ़िज़िक्स (सुनामी का भौतिकी शाश्त्र )?
सुनामी का आखिर मतलब क्या है ?क्या है सुनामी फ़िज़िक्स (सुनामी का भौतिकी शाश्त्र )?
https://earthweb.ess.washington.edu/tsunami/movies/inlines/hokkaido1.gif
Science Bloggers' Association of India
http://blog.scientificworld.in/2017/09/blog-post_25.html
http://blog.scientificworld.in/
http://blog.scientificworld.in/
http://blog.scientificworld.in/2017/09/blog-post_25.html
true
1415300117766154701
UTF-8
Loaded All Posts Not found any posts VIEW ALL Readmore Reply Cancel reply Delete By Home PAGES POSTS View All RECOMMENDED FOR YOU LABEL ARCHIVE SEARCH ALL POSTS Not found any post match with your request Back Home Sunday Monday Tuesday Wednesday Thursday Friday Saturday Sun Mon Tue Wed Thu Fri Sat January February March April May June July August September October November December Jan Feb Mar Apr May Jun Jul Aug Sep Oct Nov Dec just now 1 minute ago $$1$$ minutes ago 1 hour ago $$1$$ hours ago Yesterday $$1$$ days ago $$1$$ weeks ago more than 5 weeks ago Followers Follow THIS CONTENT IS PREMIUM Please share to unlock Copy All Code Select All Code All codes were copied to your clipboard Can not copy the codes / texts, please press [CTRL]+[C] (or CMD+C with Mac) to copy